Monday, August 2, 2021
Homeभारतअमृतसर पहुंचे केजरीवाल ने कहा- हमारी पार्टी जीती तो राज्य में सिख...

अमृतसर पहुंचे केजरीवाल ने कहा- हमारी पार्टी जीती तो राज्य में सिख ही मुख्यमंत्री बनेगा, हम कांग्रेस नेता सिद्धू का सम्मान करते हैं

  • Hindi News
  • Local
  • AAP Chief Delhi CM Arvind Kejriwal Punjab Visit, Kunwar Vijay Pratap Singh Entry In Aam Admi Party
2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में भी कुंवर को AAP में लाने की कोशिश हुई थी, लेकिन उनकी मार्गदर्शक मानी जाने वाली अमृतसर की एक पूर्व मंत्री ने उन्हें रोक लिया था। - Dainik Bhaskar

2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में भी कुंवर को AAP में लाने की कोशिश हुई थी, लेकिन उनकी मार्गदर्शक मानी जाने वाली अमृतसर की एक पूर्व मंत्री ने उन्हें रोक लिया था।

पंजाब में आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बड़ा ऐलान किया है। सोमवार को उन्होंने अमृतसर में कहा कि अगर इस बार के विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी जीती तो मुख्यमंत्री सिख समाज से ही बनाया जाएगा। यह दुनिया भर में रहने वाले सिखों का हक है। इस दौरान कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर चल रहीं अटकलों पर केजरीवाल ने कहा कि वे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं, हम उनका सम्मान करते हैं। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में यहां राजनीतिक सरगर्मियां तेज होती जा रही हैं।

अकालियों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल का विरोध किया
केजरीवाल राज्य में अपनी पैठ बना रहे हैं तो उनका विरोध भी हो रहा है। अमृतसर के एयरपोर्ट पर पहुंचते ही यहां शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने उन्हें काले झंडे दिखाए। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी उनका विरोध किया और केजरीवाल गो बैक के नारे लगाए।

अकालियों का कहना था कि वे केजरीवाल को पंजाब में कामयाब नहीं होने देंगे, क्योंकि उनका रवैया सिख विरोधी रहा है।इस गुट की अगुआई वरिष्ठ अकाली नेता अवतार सिंह ट्रक वाला और अमृतसर साउथ विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी तलबीर सिंह गिल कर रहे थे। केजरीवाल यहां एक राजनीतिक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। इस दौरान पंजाब के पूर्व IG कुंवर विजय प्रताप ने AAP की सदस्यता ली।

कौन हैं कुंवर विजय प्रताप
कुंवर विजय प्रताप 1998 बैच के IPS अधिकारी हैं। वे 2015 में कोटकपूरा में हुए पुलिस गोलीकांड की जांच कर रही SIT के वरिष्ठ सदस्य थे। इसके अलावा वे पवित्र ग्रंथ की बेअदबी मामले की भी जांच कर चुके हैं। पुलिस फायरिंग मामले में SIT की जांच रिपोर्ट को पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था जिसके बाद विजय प्रताप ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी। तब से ही उनके राजनीति में आने की चर्चाएं थीं।

2017 में भी AAP में आने की चर्चा थी
2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव में भी कुंवर को AAP में लाने की कोशिश हुई थी, लेकिन उनकी मार्गदर्शक मानी जाने वाली अमृतसर की एक पूर्व मंत्री ने उन्हें रोक लिया था। लेकिन चुनाव के बाद से ही AAP कुंवर से संपर्क बनाए हुए थी। अब अनुमान है कि वे अमृतसर नॉर्थ या सेंट्रल हलके से चुनाव लड़ सकते हैं।

नॉर्थ हलके से भाजपा नेता अनिल जोशी ने 2008 में कुंवर का SSP के पद से ट्रांसफर करवाया था। तभी से दोनों में 36 का आंकड़ा है। कुंवर की कोठी नॉर्थ हलके में आती है। वहीं सेंट्रल हलके में कुंवर पिछले 13 साल से सक्रिय रहे हैं। 10 अप्रैल को हाईकोर्ट के जांच रिपोर्ट रिजेक्ट करने के बाद उन्होंने प्री मैच्योर रिटायरमेंट की अर्जी दी थी, जिसे कैप्टन ने मंजूर कर लिया था।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments