Monday, August 2, 2021
HomeखेलICC के तीन टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए BCCI बोली लगाएगा;  रणजी...

ICC के तीन टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए BCCI बोली लगाएगा;  रणजी खिलाड़ियों के मुआवजे के लिए 10 सदस्यीय कमिटी का गठन

  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • BCCI Apex Council Meeting Decided The ICC Will Bid To Host Three Tournaments From 2024 To 2031; Formation Of 10 member Committee For Compensation Of Ranji Players
BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली की नेतृत्व में अपेक्स काउंसिल की बैठक में दो फैसले लिए गए। - Dainik Bhaskar

BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली की नेतृत्व में अपेक्स काउंसिल की बैठक में दो फैसले लिए गए।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(BCCI) की रविवार देर शाम वर्चुअल रूप से अपेक्स काउंसिल की आपात बैठक हुई। जिसमें दो अहम फैसले लिए गए। पहला ICC के 2024 से 2031 के बीच होने वाले तीन टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए बोली लगाएगा। दूसरा कोरोना की वजह से रणजी नहीं होने पाने के कारण खिलाड़ियों के हुए नुकसान को लेकर मुआवजा देने के लिए 10 सदस्यीय कमिटी का गठन किया गया।

दरअसल इस महीने एक जून को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC)की बैठक में यह फैसला किया गया था कि 2023 से 2031 के बीच हर साल ICC एक टूर्नामेंट का आयोजन करेगा। जिसमें टी-20 वर्ल्डकप, वनडे वर्ल्डकप, चैंपियंस ट्रॉफी शामिल है। वहीं 50 ओवर का वर्ल्ड कप में 14 टीमें भाग लेंगी। जबकि टी-20 वर्ल्ड कप में टीमों की संख्या 16 से बढ़ाकर 20 किया जाएगा।

टी-20 वर्ल्डकप, चैंपियंस ट्रॉफी और वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी
ऐसे में BCCI 2024 से 2031 के बीच तीन टूर्नामेंटों की मेजबानी के लिए बोली लगाएगा। सूत्रों ने न्यूज एजेंसी को बताया कि BCCI 2025 चैंपियंस ट्रॉफी के अलावा 2028 में होने वाली टी-20 वर्ल्ड कप और 2031 में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी के लिए अपना दावा पेश करेगा। वहीं इस साल अक्टूबर में टी-20 वर्ल्ड कप और 2023 में वनडे वर्ल्ड कप भी भारत में होना है।

रणजी खिलाड़ियों के मुआवजे के लिए कमिटी का गठन
कोरोना की वजह से इस साल रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं किया गया। हालांकि इस साल सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी और वनडे विजय हजारे ट्रॉफी का आयोजन किया गया था। जबकि चार दिवसीय रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं किया गया था। टी-20 ट्रॉफी और विजय हराजे ट्रॉफी के लिए खिलाड़ियों को प्रति मैच 35 हजार रुपए मिलते हैं। वहीं रणजी मैच के लिए 1.40 लाख रुपए मिलते हैं। कई खिलाड़ियों का जीवन यापन इन्हीं मैचों के फीस पर ही चलता है।

तीनों फॉर्मेट के घरेलू टूर्नामेंट से खिलाड़ियों की 20 लाख की कमाई
अगर ये खिलाड़ी IPL नहीं भी खेलते हैं और अपने राज्य की टीम के लिए तीनों फॉर्मेट में खेलते हैं तो सलाना उन्हें 20 लाख रुपए की कमाई होती है। ऐसे में रणजी ट्रॉफी नहीं होने की वजह से कई खिलाड़ियों को आर्थिक नुकसान हुआ था। इसी को देखते हुए 10 सदस्यीय कमिटी का गठन किया गया है। जिसमें सभी जोनों के एक सदस्य के अलावा BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह भी होंगे।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments