Monday, August 2, 2021
HomeCOVID-19म्यूकर माइकोसिस आधे दिमाग में फैल चुका था, पटना IGIMS के डॉक्टरों...

म्यूकर माइकोसिस आधे दिमाग में फैल चुका था, पटना IGIMS के डॉक्टरों ने 3 मरीजों में इसे नाक के रास्ते निकाला

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar News; Doctors Reached The Brain Without Opening The Nasal Passages In IGIMS, Black Fungus Removed From The Brains Of 3 Patients

आंख की रोशनी से लेकर मरीजों की जान तक ले लेने वाले ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) के 3 मरीजों का इलाज पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS) में किया गया है। बिहार में ऐसा पहली बार है, जब बिना ऑपरेशन किए नाक के रास्ते डॉक्टरों ने ब्लैक फंगस को मरीज के ब्रेन से निकाल दिया है। तीनों मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हैं।

IGIMS के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर मनीष मंडल ने बताया कि ब्रेन सर्जरी का यह तरीका काफी सफल रहा है। इसमें मरीज तेजी से रिकवर हुए हैं। इससे पहले IGIMS में ब्रेन की कई ओपन सर्जरी की गई हैं, लेकिन यह इंडोस्कोपी की अपेक्षा जटिल होती है।

3 घंटे तक चला ऑपरेशन
IGIMS के ENT विभाग के HOD डॉ. राकेश सिंह बताते हैं कि नाक के रास्ते ब्रेन की सर्जरी कर फंगस को निकालना जटिल होता है। ब्रेन के फ्रंटल लोब में फैले फंगस को नाक के रास्ते सर्जरी से निकाला गया है।

एक मरीज में कम से कम 3 घंटे का समय लगता है। इसमें नाक के रास्ते ब्रेन के उस हिस्से में जाते हैं, जहां फंगस जाल बनाता है। जिन तीन मरीजों की सर्जरी इस विधि से की गई है उनके अंदर संक्रमण का फैलाव ज्यादा हो गया था।

IGIMS में ब्लैक फंगस का ऑपरेशन करती डॉक्टरों की टीम।

IGIMS में ब्लैक फंगस का ऑपरेशन करती डॉक्टरों की टीम।

एक मरीज की आंखों की रोशनी गई
IGIMS में एक ऐसे मरीज की नाक के रास्ते ब्रेन की सर्जरी की गई है, जिसके आधे ब्रेन में ब्लैक फंगस पूरी तरह से जाल बना चुका था। आंखों में अटैक करने के बाद फंगस दिमाग के फ्रंटल लोब तक पहुंच गया था। मरीज की सर्जरी कर ब्रेन के आधे हिस्से में फैल चुके फंगस को निकाला गया है। इस मरीज की आंखों की रोशनी नहीं बच पाई है, लेकिन आंख नहीं निकालनी पड़ी है।

डॉक्टरों का कहना है कि ऑपरेशन में ब्रेन से ब्लैक फंगस को पूरी तरह से साफ कर दिया गया है। इससे मरीज अब खतरे से बाहर है।

26 दिन में 124 सर्जरी का रिकॉर्ड
IGIMS के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. मनीष मंडल ने बताया कि ब्लैक फंगस के कई जटिल ऑपरेशन अब तक किए गए हैं। हमारे डॉक्टरों ने 26 दिनों में 124 से अधिक सर्जरी कर रिकॉर्ड बनाया है। इसमें कई मरीजों के दिमाग में फंगस बड़ा जाल बना चुका था। ऐसे में ब्रेन की सर्जरी थोड़ी मुश्किल हो जाती है, लेकिन हमने वो कर दिखाया है।

डॉ. मंडल का कहना है कि ब्लैक फंगस के इलाज में पूरी टीम काम कर रही है। इसके ऑपरेशन में ENT और EYE के साथ न्यूरो के डॉक्टरों की पूरी टीम लगी है।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments