Monday, September 20, 2021
Homeमनोरंजन11 साल की उम्र में अर्जुन कपूर ने झेला था माता-पिता के...

11 साल की उम्र में अर्जुन कपूर ने झेला था माता-पिता के तलाक का दर्द, गम भुलाने के इतना खाना खाने लगे कि 150 किलो तक पहुंच गया था वजन

बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन कपूर आज अपना 36 वां जन्मदिन मना रहे हैं। 26 जून, 1985 को मुंबई में अर्जुन का जन्म बोनी कपूर और मोना शौरी कपूर के घर हुआ था। अर्जुन की उम्र तब केवल 11 साल थी जब उनके पेरेंट्स का तलाक हो गया था। एक इंटरव्यू में अर्जुन ने खुलासा किया था कि माता-पिता के अलग होने के गम को उन्होंने कैसे भुलाने की कोशिश की थी।

150 किलो हो गया था वजन
अर्जुन बोले, ‘जब मेरे पेरेंट्स का तलाक हुआ, मुझे खाने में कम्फर्ट मिला। मुझे इमोशनल झटका लगा था तो मैंने खाने को एन्जॉय करना शुरू कर दिया। उस समय इंडिया में फास्ट फूड का कल्चर आया ही था तो मैं दबाकर खाने लगा। उस समय खुद को रोक पाना मुश्किल था क्योंकि एक हद के बाद आपको कोई रोकने वाला नहीं होता। आपकी मां आपसे प्यार करती है तो वो भी आपको नहीं रोकती हैं। कह देती थीं ये तो उम्र है खाने की , ठीक है। मैं एक ऐसे पड़ाव पर पहुंच गया था जब मुझे अस्थमा हो गया था, मेरे शरीर में इंजरी हो गई थी और जब मेरी उम्र 16 साल थी तो मेरा वजन 150 किलो तक पहुंच गया था। ज्यादा वजन और अस्थमा होने के कारण वे 10 सेकंड भी नहीं दौड़ पाता था ।’

बहन अंशुला, मां मोना के साथ अर्जुन कपूर।

बहन अंशुला, मां मोना के साथ अर्जुन कपूर।

सलमान ने दी वजन कम करने की सलाह
अर्जुन ने एक इंटरव्यू में बताया था कि मोटापा उनकी लाइफ का एक हिस्सा था। वे कभी भी अपना वजन कम नहीं करना चाहते थे। इसी दौरान सलमान खान से उन्हें इंस्पिरेशन मिली और उन्होंने अपना वजन कम करने की प्लानिंग की। सलमान ने उनसे कहा था यदि वे वजन कम कर ले, तो हीरो बन सकता है। यही वो पल था जब अर्जुन ने एक्टर बनने के लिए अपना वजन कम करने की सोची। सलमान खान की इंस्पिरेशन से अर्जुन ने अपनी फिजिक पर काम किया और 50 किलो वजन घटाया। 2012 में उन्होंने फिल्म ‘इशकजादे’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। हालांकि, एक्टिंग में किस्मत आजमाने से पहले उन्होंने बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर और प्रोड्यूसर भी काम किया।

सलमान खान के साथ अर्जुन कपूर।

सलमान खान के साथ अर्जुन कपूर।

1996 में अलग हुए थे बोनी कपूर-मोना
श्रीदेवी से दूसरी शादी रचाने वाले बोनी कपूर पहले से शादीशुदा थे। उनकी पहली पत्नी का नाम मोना है और वह दो बच्चों(अर्जुन और अंशुला) के पिता हैं। बोनी ने मोना से साफ-साफ कह दिया कि वह श्रीदेवी के बिना नहीं रह सकते। इसके बाद 1996 में दोनों का तलाक हो गया था। 1996 में आखिरकार श्रीदेवी और बोनी ने शादी कर ली। दोनों की दो बेटियां हैं जिनके नाम जान्हवी और खुशी कपूर हैं।

श्रीदेवी से अच्छे नहीं थे अर्जुन के रिश्ते
खबरों की मानें तो जब बोनी कपूर ने पहली वाइफ मोना को छोड़कर श्रीदेवी से शादी की तो सबसे ज्यादा अर्जुन कपूर ही भड़के थे। उन्होंने ये कहा था कि जाह्नवी और खुशी उनकी बहनें नहीं है। उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि उनका खुशी और जाह्नवी से कोई रिश्ता नहीं है। हम लोग ज्यादा नहीं मिलते और ना ही साथ में समय बिताते हैं। यह रिश्ता मायने नहीं रखता। इतना ही नहीं वे श्रीदेवी को भी पसंद नहीं करते थे। उन्होंने श्रीदेवी के लिए कहा था कि वे सिर्फ उनके पिता यानी बोनी कपूर की वाइफ हैं। फरवरी 2018 में श्रीदेवी की मौत के बाद अर्जुन ने सारे-गिले शिकवे भुलाकर अपनी सौतेली बहनों जान्हवी और खुशी को अपना लिया था। अब वह अपनी बहन अंशुला की तरह ही जान्हवी और खुशी का ख्याल रखते हैं।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments