Thursday, July 22, 2021
Homeदुनियाखालिस्तानियों के विरोध पर सिडनी की जेल में बंद विशाल जूड की...

खालिस्तानियों के विरोध पर सिडनी की जेल में बंद विशाल जूड की रिहाई के लिए विदेश मंत्री ने ऑस्ट्रेलियाई दूतावास से की बात

  • Hindi News
  • Local
  • Foreign Minister Spoke To The Australian Embassy For The Release Of Vishal Judd, Who Was In Sydney Jail For Protesting Khalistanis
ऑस्ट्रेलिया में जेल में बंद करनाल के विशाल जूड, जिसके साजिश का शिकार होने की बात कही जा रही है। - Dainik Bhaskar

ऑस्ट्रेलिया में जेल में बंद करनाल के विशाल जूड, जिसके साजिश का शिकार होने की बात कही जा रही है।

ऑस्ट्रेलिया की जेल में बंद हरियाणा मूल के युवक विशाल जूड को रिहाई की आस बंध गई है। एक ओर इस मांग को लेकर प्रदेश में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं, वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को विदेश मंत्री से इस बारे में बात की। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई दूतावास को भारत की चिंता से अवगत कराया है। हरियाणा सरकार ने यह कदम पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में हो रहे रोष प्रदर्शनों के बाद उठाया है।

बता दें कि करनाल निवासी विशाल जूड रोड़ समुदाय से आते हैं, जो असल में मराठे हैं। सन 1761 में मराठा सेनापति सदाशिव राव भाऊ और विदेशी आक्रांता अहमद शाह अब्दाली के बीच हुई पानीपत की तीसरी लड़ाई में मराठा सेना की पराजय के बाद बहुत से मराठे मारे गए थे। कुछ वापस महाराष्ट्र चल गए, लेकिन कुछ यहीं बस गए। सोनीपत, पानीपत, करनाल और उत्तर प्रदेश के सहारनपुर एवं मुजफ्फरनगर के कुछ हिस्सों में इन मराठा लोगों के कई गांव हैं।

यह बताई जा रही है विशाल के खिलाफ साजिश

बताया जाता है कि देश में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में आस्ट्रेलिया में कई जगह खालिस्तानियों ने प्रदर्शन किए थे। इसी सिडनी में भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का अपमान भी किया जा रहा था। करनाल निवासी विशाल जूड ने देश विरोधी ताकतों से डटकर लड़ाई लड़ी और तिरंगे का अपमान नहीं होने दिया। विशाल के समर्थकों का दावा है कि देश विरोधी कुछ ताकतों ने विशाल जूड से मारपीट की और बाद में आस्ट्रेलिया सरकार से मिलकर झूठे केस में फंसाकर जेल भिजवा दिया। विशाल इस समय सिडनी की जेल में है। जिन तीन पगड़ीधारियों पर हमले का आरोप विशाल पर है, वो तीनों खालिस्तानी बताए जा रहे हैं। इस मुद्दे को दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसके बाद से लगातार हरियाणा व आसपास विशाल के समर्थन में प्रदर्शन हो रहे हैं।

विदेश मंत्री से की मुख्यमंत्री ने बात

इन्हीं के मद्देनजर हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने विशाल जूड की तत्काल रिहाई के लिए विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात की और मामले में तत्काल हस्तक्षेप की अपील की। हरियाणा सरकार की ओर से साझा की गई जानकारी के मुताबिक विदेश मंत्री ने ऑस्ट्रेलियाई दूतावास को भारत की चिंता से अवगत कराया है। हरियाणा सरकार ने अपने आधिकारिक बयान में यह भी बताया है कि भारतीय विदेश मंत्री ने मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल को भरोसा दिया कि विशाल जूड को बहुत जल्द ऑस्ट्रेलिया की जेल से रिहा कर दिया जाएगा।

क्या कहा मनोहर लाल ने?

इस बीच मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि मीडिया और कुछ लोगों के कारण उन्हें इस घटनाक्रम की जानकारी मिली। हरियाणा के कई संगठन विशाल की रिहाई के लिए अपने-अपने तरीके से संघर्ष कर रहे हैं। ऐसे में हरियाणवी होने के नाते सरकार का भी दायित्व है कि विदेश में फंसे युवक को बाहर निकाला जाए। अगर यह लड़ाई केवल तिरंगे के अपमान की थी तो विशाल ने भारतीय होने के नाते राष्ट्र के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाई है। हमें उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया सरकार बहुत जल्द विशाल जूड को रिहा करेगी।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments