Thursday, July 29, 2021
Homeदुनियामहामारी से बदल गया पासपोर्ट पावर; कोरोना में जर्मन पासपोर्ट सबसे पावरफुल,...

महामारी से बदल गया पासपोर्ट पावर; कोरोना में जर्मन पासपोर्ट सबसे पावरफुल, अमेरिका 9 स्थान फिसलकर 12वें पर

संक्रमण ने दुनियाभर में पासपोर्ट की पावर भी बदल दी है। - Dainik Bhaskar

संक्रमण ने दुनियाभर में पासपोर्ट की पावर भी बदल दी है।

कोरोना के कारण बहुत से देशों में यात्रा पाबंदियां जारी हैं। इस संक्रमण ने पासपोर्ट की पावर भी बदल दी है। आर्टन कैपिटल पासपोर्ट इन्डेक्स के मुताबिक 24 जून 2021 तक वीसा फ्री एक्सेस के मामले में जर्मन पासपोर्ट सबसे ताकतवर रहा। वहीं, कोरोना से पहले शीर्ष 3 में शामिल अमेरिका टॉप 10 से बाहर होकर 12वें पर आ गया है। भारत की वैश्विक पासपोर्ट ताकत घटी है। रैंक 13 स्थान गिरकर 61 हो गई है।

2019 के आंकड़े मई, 2018 के आंकड़े दिसंबर के हैं।

2019 के आंकड़े मई, 2018 के आंकड़े दिसंबर के हैं।

जर्मन नागरिकों काे 100 देशों में वीसा जरूरी नहीं
जर्मन पासपोर्ट धारक 100 देशों में बगैर वीसा के जा सकते हैं। 37 देशों में पहुंचने पर उसे वीसा दे दिया जाता है। सिर्फ 61 देशों में पहले वीसा अर्जी देनी होगी।

भारतीय पासपोर्ट से 20 देशों में बगैर वीसा जाना संभव

भारतीय पासपोर्ट से 20 देशों में वीसा की जरूरत नहीं। 35 देशों में पहुंचते ही वीसा मिल जाता है। 143 देशों में जाने के लिए वीसा का पहले आवेदन देना होगा।

  • चीन- रैंक 54, 23 देशों में बगैर वीसा जा सकते हैं। 37 देशों में पहुंचने पर वीसा मिल जाता है।
  • पाकिस्तान- पासपोर्ट रैंक 80 है। सिर्फ 7 देशों में इसके नागरिक बगैर वीसा जा सकते हैं।
  • अफगानिस्तान – 83 रैंक वाला सबसे कमजोर पासपोर्ट। सिर्फ 4 देशों में वीसा जरूरी नहीं।

स्रोत: आर्टन कैपिटल पासपोर्ट इन्डेक्स 2021

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments