Thursday, July 29, 2021
Homeबिजनेसबड़ी गिरावट के बाद आज सोना संभला, चांदी आज लगातार दूसरे दिन...

बड़ी गिरावट के बाद आज सोना संभला, चांदी आज लगातार दूसरे दिन सस्ती हुई

सोमवार को सोने की कीमत में बड़ी गिरावट के बाद आज सोना संभला है। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट के अनुसार सराफा बाजार में आज सोना 144 रुपए सस्ता होकर 48,619 पर पहुंच गया है। हालांकि अगर चांदी की बात करें तो यह आज भी सस्ती हुई है। मंगलवार को चांदी 279 रुपए सस्ती होकर 71,359 रुपए पर आ गई है।

MCX पर आज दोपहर 1:40 बजे सोना 85 रुपए की गिरावट के साथ 48,608 रुपए पर आ गया है। वहीं चांदी 529 रुपए सस्ती होकर 71,350 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई है।

सोमवार को सोना-चांदी हुए थे सस्ते
सोमवार को सोने-चांदी की कीमतों में बड़ी गिरावट आई थी। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट के अनुसार सोना 553 रुपए सस्ता होकर 48,475 पर आ गया था। वहीं चांदी की बात करें तो इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन के अनुसार ये 501 रुपए सस्ती होकर 71,638 रुपए प्रति किलोग्राम पर आ गई थी।

साल के आखिर तक 55 हजार तक जा सकता है सोना
IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता कहते हैं कि आने वाले समय में सोने की कीमतों में और बढ़त देखने को मिल सती है। इस साल के आखिर तक सोना 55 हजार रुपए तक जा सकता है।

मई में खूब चमके सोना-चांदी
मई महीने में सोना 2,241 रुपए महंगा हुआ है। 30 अप्रैल को सोना 46,791 रुपए प्रति 10 ग्राम पर था जो 31 मई का 49,032 रुपए पर पहुंच गया था। वहीं चांदी की बात करें तो 30 अप्रैल को ये 67,800 रुपए प्रति किलोग्राम पर थी जो 31 मई को 71,350 रुपए पर पहुंच गई। यानी मई में ही ये 3,550 रुपए महंगी हुई है।

देश में बढ़ रही सोने की मांग
वाणिज्य मंत्रालय के ताजा डाटा के मुताबिक, अप्रैल में 6.3 बिलियन डॉलर करीब 46 हजार करोड़ रुपए के सोने का आयात हुआ है। एक साल पहले समान अवधि में केवल 2.82 मिलियन डॉलर करीब 21.61 करोड़ रुपए के गोल्ड का इंपोर्ट हुआ था। यानी अब सोने की मांग बढ़ने लगी है।

आज से ज्वैलरी हॉलमार्किंग हुई अनिवार्य
15 जून यानी आज से गोल्ड ज्वैलरी (गहनों) की हॉलमार्किंग अनिवार्य हो गई है। अब से ज्वैलर सिर्फ हॉलमार्किंग वाली ज्वैलरी ही खरीद बेच सकेंगे। हॉलमार्क सरकारी गारंटी होती है। हॉलमार्क भारत की एकमात्र एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (BIS) देती है।

हॉलमार्किंग में किसी प्रोडक्ट को तय मापदंडों पर प्रमाणित किया जाता है। BIS वह संस्था है, जो ग्राहकों को उपलब्ध कराए जा रहे सोने की जांच करती है। सोने के सिक्के या गहने पर हॉलमार्क के साथ BIS का लोगो लगाना जरूरी है। इससे पता चलता है कि BIS की लाइसेंस वाली लैब में इसकी शुद्धता की जांच की गई है। अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

खबरें और भी हैं…

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments