Friday, July 30, 2021
HomeदुनियाHMS क्वीन एलिजाबेथ वॉरशिप बंगाल की खाड़ी में इंडियन नेवी के साथ...

HMS क्वीन एलिजाबेथ वॉरशिप बंगाल की खाड़ी में इंडियन नेवी के साथ जुलाई में करेगा युद्धअभ्यास, साउथ चाइना सी में पहली बार होगी तैनाती

  • Hindi News
  • International
  • HMS Queen Elizabeth Warship Conduct Warfare Exercise With Indian Navy In Bay Of Bengal In July

इन्डो पैसेफिक इलाके में चीन की विस्तारवादी नीति पर नकेल कसने को लेकर UK का HMS क्वीन एलिजाबेथ कैरियर स्ट्राइक ग्रुप इंडियन नेवी के साथ फुल स्पैक्ट्रम एक्सरसाइज में हिस्सा लेगा। ये युद्ध अभ्यास पश्चिम बंगाल की खाड़ी में कोंकण वॉर गेम्स के तहत अगले महीने जुलाई में किया जाएगा। इस दौरान UK अपने पहले 65 हजार टन वजनी वॉरशिप की तैनाती साउथ चाइना सी में करेगा।

भारत और UK ने साउथ चाइना सी में ‘फ्रीडम ऑफ नेविगेशन’ को सुनिश्चित करने के लिए इन्डो पैसेफिक में सैन्य सहयोग करने का फैसला लिया है। इससे पहले इंडियन नेवी ने 23-24 जून को गोवा तट पर USS रोनाल्ड रीगन कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के साथ अभ्यास किया। इसकी वजह निमित्ज क्लास वॉरशिप का साउथ चाइना सी में ऑपरेशनल तैनाती के पहले लौट आना था।

HMS एलिजाबेथ इराक- सीरिया बॉर्डर पर तैनात है
HMS एलिजाबेथ अभी एंटी ISIS ऑपरेशन के तहत इराक- सीरिया बॉर्डर पर UK और US के F-35B के स्टील्थ फाइटर के साथ तैनात है। इसमें दोनों देशों के अलावा नीदरलैंड के फ्रिगेट और पनडुब्बी भी शामिल है। वॉरशिप दक्षिण चीन सागर में नेविगेशन ऑपरेशन के लिए 22 मई को UK से रवाना हुआ है। वह 28 हफ्ते के लिए तैनात किया जाएगा।

कोंकण वॉर गेम्स की तारीख तय नहीं
इधर, कोंकण में युद्धाभ्यास की तारीखें तय की जा रही हैं। कैरियर ग्रुप अंडमान और निकोबार द्वीप के आसपास भारत की पनडुब्बियों, P81 एंटी सबमैरिन वॉरफेयर प्लेन्स और मिग-29K फाइटर्स के साथ युद्ध अभ्यास करेगा। इंडियन एयरक्राफ्ट कैरियर INS विक्रमादित्य रखरखाव के दौर से गुजर रहा है। 2021 में यह तैनाती से बाहर कर दिया जाएगा। इसके अलावा ब्रिटेन जाने के पहले एलिजाबेथ कैरियर स्ट्राइक ग्रुप अक्टूबर में इंडियन आर्म्ड फोर्स के साथ अरब सागर में ट्राई सर्विस एक्सरसाइज में भाग लेगा। ये भी तीन दिन आयोजित किया जाएगा।

एक दिन में कर सकता है 100 हमले
HMS एलिजाबेथ वॉरशिप को बनाने में 30 हजार करोड़ रुपए की लागत आई थी। इसकी लंबाई ‘हाउस ऑफ पार्लियामेंट’ से भी ज्यादा है। इसका वजन 65,000 टन (376 ब्लू व्हेल्स के बराबर) है। यह एक दिन में 108 हवाई हमले कर सकता है। HMS इलस्ट्रिअस का इस्तेमाल 2014 में बंद होने के बाद इसका उपयोग किया जाने लगा था। HMS क्वीन एलिजाबेथ को ब्रिटेन के हैम्पशर काउंटी के पोर्ट्समाउथ में तैयार किया गया था।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments