Wednesday, July 21, 2021
Homeदुनियामहामारी में माता-पिता और बिना वेतन तीमारदारी करने वालों में आत्महत्या की...

महामारी में माता-पिता और बिना वेतन तीमारदारी करने वालों में आत्महत्या की प्रवृत्ति आठ गुना बढ़ी

  • Hindi News
  • International
  • In The Epidemic, The Tendency Of Suicide Among Parents And Unpaid Caretakers Increased By Eight Times
महामारी में युवाओं में मानसिक समस्याओं के मामले बढ़ें। - Dainik Bhaskar

महामारी में युवाओं में मानसिक समस्याओं के मामले बढ़ें।

अमेरिका में कोरोना महामारी के दौरान माता-पिता और बिना वेतन तीमारदारी करने वालों में आत्महत्या की प्रवृत्ति में आठ गुना इजाफा हुआ है। अमेरिका के महामारी नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है। सर्वे के मुताबिक, लगभग 70 फीसदी माता-पिता और देखभाल करने वाले वयस्कों ने महामारी के दौरान मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं का सामना किया।

खासतौर पर बुजुर्गों की देखभाल करने वालों ने। जबकि ऐसी दोहरी जिम्मेदारी निभाने वाले लगभग 85 फीसदी लोगों ने इन समस्याओं का सामना किया। जबकि इस तरह की जिम्मेदारी नहीं निभाने वाले महज एक तिहाई लोगों में ही ये समस्याएं ज्यादा देखने मिलीं। ये अध्ययन कमर्शियल सर्वे करने वाली क्वालट्रिक्स नामक कंपनी ने अमेरिकी नागरिकों के बीच कराए गए सर्वे से प्राप्त डेटा के आधार पर किया गया है। यह डेटा पिछले साल 6 से 27 दिसंबर और इस साल 16 फरवरी से 8 मार्च के बीच जुटाया गया। सर्वे में 10,444 उत्तरदाता शामिल हुए। इनमें से 42 फीसदी की पहचान माता-पिता या देखभालकर्ता के रूप में की गई।

अध्ययन में यह भी पाया गया कि जिन लोगों के पास माता-पिता और बुजुर्गों के देखभालकर्ता की दोहरी जिम्मेदारी थी, उनमें आत्महत्या की ओर उन्मुख होने की संभावना ये जिम्मेदारी नहीं संभालने वाले लोगों की तुलना में आठ गुना अधिक रही। सीडीसी की हेल्थ साइंटिस्ट एलिजाबेथ रोहन कहती हैं ‘मुश्किल वक्त में एक-दूसरे से जुड़े रहना बहुत महत्वपूर्ण है। कोई भरोसेमंद दोस्त, परिवार को कोई सदस्य या कोई प्रोफेशनल व्यक्ति इसमें मददगार साबित हो सकता है।’

बर्ताव जांचा गया, ज्यादातर ने माना- हां, विचार आया
सर्वे में मानसिक समस्याओं को बढ़ावा देने वाले कारकों डिप्रेशन, एंग्जाइटी, कोविड-19 ट्रॉमा संबंधी तकलीफों को शामिल किया गया। लोगों से पूछा गया कि क्या उन्हें आत्महत्या का ख्याल आया है। ज्यादातर ने माना की कि हां, उनके मन में आत्महत्या के विचार आए।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments