Thursday, July 29, 2021
Homeलाइफ & साइंसदेश के 92.6% लोग मानते हैं योग जीवन बदल सकता है, 91.5%...

देश के 92.6% लोग मानते हैं योग जीवन बदल सकता है, 91.5% बोले; यह डायबिटीज कंट्रोल करने में असरदार; योग करने के मामले में बुजुर्ग सबसे आगे

  • Hindi News
  • Happylife
  • International Yoga Day 92 Percent Consider Yoga Can Change Lifestyle And 91 Percent Says It Can Control Diabetes Says Ayush Ministry Survey
  • स्वास्थ्य और आयुष मंत्रालय ने 1,62,330 लोगों पर किया सर्वे
  • योग को कितना मानते हैं भारतीय, सर्वे से यह समझने की कोशिश की

देश में 92.6% लोग मानते हैं योग इंसान का जीवन बदल सकता है। 91.5% देशवासियों का कहना है, योग डायबिटीज कंट्रोल करने में मदद करता है। ये आंकड़े देशभर में हुए सर्वे में सामने आए हैं।

योग के बारे में लोग क्या सोचते हैं, इसे समझने के लिए स्वास्थ्य और आयुष मंत्रालय ने देशभर में सर्वे किया। सर्वे में 1,62,330 लोग शामिल हुए। सर्वे रिपोर्ट कहती है, देश की 11.8 फीसदी ही योग करती है। सबसे ज्यादा योग करने वाले दक्षिण भारत में हैं लेकिन सबसे ज्यादा दक्षिण के लोग मानते हैं कि योग जीवन को बदल सकता है। ऐसा मानने वालों में भी सबसे ज्यादा निम्न आय वर्ग के लोग शामिल हैं।

योग करने में कौन आगे है, पुरुष या महिलाएं, शहरी या ग्रामीण, देश में कहां-कितने योग करने वाले हैं… भास्कर डाटा स्टोरी में जानिए ऐसे कई सवालों के जवाब…

योग करने में बुजुर्गों ने युवाओं को पीछे छोड़ा
सर्वे के मुताबिक, महिलाएं और पुरुष दोनों ही योग करने के मामले बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। इनमें युवाओं के मुकाबले 60-79 साल बुजुर्गों की संख्या (12.1%) सबसे ज्यादा है, जबकि युवाओं में यह आंकड़ा 11.8% है। योग के मामले अभी भी शहरी लोग आगे हैं।

सबसे कम योग करने वाले पूर्वी भारत में
देशभर में योग करने वालों की सबसे कम 5.3% पूर्वी भारत में है। वहीं, सबसे ज्यादा 17.2% तक योग करने वाले उत्तर भारत से हैं। योग करने के मामले में सबसे आगे अपर-मिडिल क्लास है। इनका आंकड़ा 13.5% है।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments