Thursday, July 29, 2021
Homeदुनियाकार्यस्थल पर पितृत्व अवकाश को प्रोत्साहन देना बहुत जरूरी, इससे कामकाजी मां...

कार्यस्थल पर पितृत्व अवकाश को प्रोत्साहन देना बहुत जरूरी, इससे कामकाजी मां पर भी भार कम होगा

  • Hindi News
  • International
  • It Is Very Important To Encourage Paternity Leave At The Workplace, It Will Also Reduce The Burden On The Working Mother.
नॉर्वे ने चार हफ्तों का पितृत्व अवकाश देना शुरू किया तो 50% बढ़ गए लेने वाले। - Dainik Bhaskar

नॉर्वे ने चार हफ्तों का पितृत्व अवकाश देना शुरू किया तो 50% बढ़ गए लेने वाले।

कई पुरुषों का कहना है कि वे पितृत्व अवकाश लेने में हिचकते हैं क्योंकि उन्हें इस बात की चिंता रहती है कि इससे उनके करियर पर असर होगा। पर नॉर्वे में कार्यस्थलों को लेकर की गई नई स्टडी में पता चला है कि कंपनियां नए पिता को समय निकालने के लिए प्रोत्साहित कर उनकी चिंताएं कम कर सकती हैं।

पहले भी कई स्टडी में यह बात साबित हो चुकी है कि पितृत्व अवकाश के बहुत सारे सामाजिक व व्यक्तिगत फायदे हैं। इससे पिता और बच्चे स्थायी रूप से करीब आते हैं। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में अर्थशास्त्री हाइजिन कू और नॉर्वेजियन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में जूलियन जॉनसन और केजेल साल्वेन्स की इस स्टडी में कहा गया है कि यदि सार्वभौमिक पितृत्व अवकाश आदर्श बन गया, तो कामकाजी मां पर कुछ बोझ कम होने की उम्मीद की जा सकती है। इससे उन्हें अपने करियर के साथ अपने मातृत्व व पितृत्व को नियंत्रित करने की सहूलियत मिलती है।

स्टडी के मुताबिक सभी के लिए सवैतनिक पितृत्व अवकाश उपलब्ध कराना महत्वपूर्ण है, यह पहला कदम है। क्योंकि बहुत सारे पुरुष तभी तैयार होंगे, जब उन्हें नुकसान का डर नहीं होगा। इसे नॉर्वे के उदाहरण से समझ सकते हैं। वहां पर 1 अप्रैल के बाद जन्म लेने वाले बच्चों के पिता को 4 हफ्तों की सवैतनिक छुट्‌टी दी जाती है। इसके चलते वहां पितृत्व अवकाश लेने वालों की संख्या 5% से बढ़कर 50% पहुंच गई।

जॉनसन कहते हैं कि हम यह नहीं कहना चाहते कि हर कंपनी को बदलाव की जरूरत है। पर यह समझना होगा कि पितृत्व अवकाश के लिए किसी के करियर को चोट पहुंचाने का कारण नहीं बनता। इस समस्या का समाधान पितृत्व अवकाश को कानूनी जामा पहनाना भी नहीं है, बल्कि इसे पर्याप्त रूप से प्रोत्साहित करना है, ताकि कार्यस्थल पर यह सामान्य बात हो जाए।

नए मानदंडों से महिला कर्मियों को मदद मिल सकती है: विशेषज्ञ

विशेषज्ञ कहते हैं कि पितृत्व अवकाश को लेकर कंपनियां नया मानदंड बनाती हैं, तो वे अपनी महिला कर्मियों के करियर में भी मदद कर सकती हैं। कंपनी के सीईओ को इसे लेकर कदम उठाने होंगे। जैसा कि रेडिट में एलेक्सिस ओहनियान और फेसबुक में जकरबर्ग ने किया। नॉर्वे की स्टडी भी इसी बात को बल देती है।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments