Sunday, July 25, 2021
Homeखेललॉरेन हाबर्ड को न्यूजीलैंड की महिला वेटलिफ्टिंग टीम में शामिल किया गया,...

लॉरेन हाबर्ड को न्यूजीलैंड की महिला वेटलिफ्टिंग टीम में शामिल किया गया, 2013 तक पुरुष कैटेगरी में हिस्सा लेते थे

  • Hindi News
  • Sports
  • Laurel Hubbard Olympics | New Zealand Weightlifter Lauren Hubbard Will Be The First Transgender To Participate In Olympic
न्यूजीलैंड की लॉरेन हाबर्ड पहली ट्रांसजेंडर एथलीट हैं, जो ओलिंपिक में 87 किलो वेट में वेटलिफ्टिंग में प्रतिनिधित्व करेंगी। - Dainik Bhaskar

न्यूजीलैंड की लॉरेन हाबर्ड पहली ट्रांसजेंडर एथलीट हैं, जो ओलिंपिक में 87 किलो वेट में वेटलिफ्टिंग में प्रतिनिधित्व करेंगी।

न्यूजीलैंड की लॉरेन हाबर्ड ओलिंपिक में भाग लेने वाली पहली ट्रांसजेंडर होंगी। लॉरेन को क्वॉलिफाइंग योग्यता में संशोधन किए जाने के बाद वुमन टीम में जगह दी गई है। वह 87 किलो वेट में भाग लेंगी। लॉरेन 2013 से पहले पुरुषों की प्रतिस्पर्धा में भाग लेते थे। वहीं लॉरेन के वुमन टीम में शामिल किए जाने को लेकर आलोचना भी की जा रही है।

आलोचकों का कहना है कि लॉरेन को गलत लाभ मिला है। वहीं हाबर्ड ने न्यूजीलैंड ओलिंपिक संघ की ओर से जारी बयान में कहा- मैं न्यूजीलैंड के लोगों की ओर दिए गए स्पोर्ट के प्रति आभारी हूं और उनका मैं शुक्रिया अदा करती हूं।

IOC के 2015 के नियमों के तहत वुमन टीम में किया गया शामिल
लॉरेन को 2015 में इंटरनेशनल ओलिंपिक संघ के ट्रांसजेंडर नियमों के तहत वुमन टीम में शामिल किया गया है। IOC ने ट्रांसजेंडर को 2015 में वुमन टीम में निर्धारित मात्रा से टेस्टोस्टेरोन हार्मोन नीचे होने पर ट्रांसजेंडर को वुमन टीम से खेलने की इजाजत दे दी थी। टेस्टोस्टेरोन हार्मोन ज्यादा होने से मांश-पेशियां मजबूत होती है।

न्यूजीलैंड ओलिंपिक संघ और न्यूजीलैंड वेटलिफ्टिंग संघ ने लॉरेन का सपोर्ट किया
न्यूजीलैंड ओलिंपिक संघ और न्यूजीलैंड वेटलिफ्टिंग संघ ने लॉरेन के चयन को सही ठहराते हुए उनका समर्थन किया है। न्यूजीलैंड ओलिंपिक संघ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी केरेन स्मिथ ने कहा- लॉरेन ने निर्धारित योग्यता को पूरा किया है। वह IOC के ट्रांसजेंडर के लिए निर्धारित नियमों को भी पूरा करते हैं। ऐसे में उनको महिला टीम में जगह दिया जाना गलत नहीं है। वहीं न्यूजीलैंड वेटलिफ्टिंग संघ के प्रमुख रिची पैटरसन ने कहा कि 2018 में चोट लगने के बाद लॉरेन ने काफी मेहनत की है। हम उनके ओलिंपिक की तैयारी को लेकर पूरा सहयोग देंगे और उनसे मेडल जीतने की उम्मीद है।

लॉरेन के मेडल जीतने की है उम्मीद
लॉरेन अपनी वेट कैटगिरी में टॉप में शामिल हैं। ऐसे में उनके मेडल जीतने की पूरी उम्मीद है। क्योंकि इंटरनेशनल वेटलिफ्टिंग फेडरेशन के नियमों के तहत ओलिंपिक में एक देश के एक वेटलिफ्टर ही एक वेट कैटगिरी में भाग ले सकते हैं। ऐसे में कई देशों के टॉप वेटलिफ्टर ओलिंपिक में नहीं खेल सकेंगे। जिसकी वजह से लॉरेन के मेडल जीतने की उम्मीद है। लॉरेन ने 2019 में सामोआ में हुई पैसिफिक गेम्स में गोल्ड मेडल जीते थे।

लॉरेन का महिला टीम में शामिल करने पर हो रहा विरोध
लॉरेन के महिला कैटगिरी में शामिल किए जाने का विरोध हो रहा है। आलोचकों का कहना है कि यह महिला एथलीटों के साथ नाइंसाफी है। ऑस्ट्रेलियाई महिला खेल को बढ़ावा देने वाली वकीलों के ग्रुप ने बयान जारी कर कहा- इंटरनेशनल ओलिंपिक संघ की गलत नीतियों की वजह से जन्म से पुरुष होने वाले खिलाड़ी को महिला वर्ग में खेलने का मौका मिल रहा है, जबकि महिला वर्ग में केवल महिला खिलाड़ियों को ही मौका मिलना चाहिए। वहीं पैसेफिक गेम्स में लॉरेन से हारने वाली सामोआ की वेटलिफ्टर बॉस का कहना है कि लॉरेन का न्यूजीलैंड टीम में शामिल किया जाना डोप को बढ़ावा देना जैसा है।
2018 में ऑस्ट्रेलिया वेटलिफ्टिंग फेडरेशन किया था विरोध
2018 में गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान महिला वर्ग में लॉरेन के खेलने को लेकर ऑस्ट्रेलिया वेटलिफ्टिंग फेडरेशन ने विरोध किया था और बैन लगाने की मांग की थी। हालांकि आयोजन समिति ने इसे नकार दिया था। बाद में लॉरेन चोट की वजह टूर्नामेंट से हट गई थीं।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments