Thursday, July 29, 2021
Homeदुनियाएक ही टेबल पर नजर आए भारत- पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार,...

एक ही टेबल पर नजर आए भारत- पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, रूस के NSA निकोलई पैत्रुशेव के साथ डोभाल ने की दो घंटे अलग से बैठक

  • Hindi News
  • International
  • National Security Advisor Ajit Doval Participated In The Ongoing Meeting In Dushanbe, Tajikistan, A 2 hour Meeting With Russia’s NSA Nikolai Patrushev
ताजिकिस्तान की दुशांबे में SCO देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच बैठक हुई। इसमें पाकिस्तान  के NSA मोईद यूसुफ ने भी हिस्सा लिया। - Dainik Bhaskar

ताजिकिस्तान की दुशांबे में SCO देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच बैठक हुई। इसमें पाकिस्तान के NSA मोईद यूसुफ ने भी हिस्सा लिया।

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने बुधवार को ताजिकिस्तान की राजधानी दुशांबे में चल रही शंघाई कॉपरेशन ऑर्गेनाइजेशन (SCO) की बैठक में हिस्सा लिया। इस बैठक में पाकिस्तान समेत सदस्य देशों के NSA भी शामिल हुए। डोभाल ने रूस के NSA निकोलई पैत्रुशेव के साथ अलग से 2 घंटे तक बैठक की। रूस के साथ चली दो घंटे की बैठक में डोभाल और पैत्रुशेव के बीच दोनों देशों के मुद्दे, क्षेत्रीय और वैश्विक हित को लेकर चर्चा हुई। इसके इतर उन्होंने एक जॉइंट प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए।

बैठक में भारत के अलावा अफगानिस्तान, पाकिस्तान, रूस, चीन, कजाकिस्तान, किर्गीस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के NSA ने भी हिस्सा लिया। इसमें शामिल देशों के प्रतिनिधियों को ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति रहमान ने संबोधित किया। इस दौरान पाकिस्तान के NSA मोईद यूसुफ भी शामिल हुए। इन्होंने हाल ही में कहा था कि भारत के साथ चर्चा संभव नहीं है।

बैठक में भारत, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, रूस, चीन, कजाकिस्तान, किर्गीस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के NSA ने हिस्सा लिया।

बैठक में भारत, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, रूस, चीन, कजाकिस्तान, किर्गीस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के NSA ने हिस्सा लिया।

इन मुद्दों पर हुई चर्चा
SCO में शामिल सभी के देशों के NSA ने अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद, उग्रवाद, अलगाववाद, कट्टरवाद, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ते अपराध, हथियार और ड्रग्स की तस्करी पर चर्चा की। साथ ही क्षेत्रीय स्तर पर सुरक्षा सुनिश्चित करने, आधुनिक दुनिया के खतरों और चुनौतियों से निपटने के लिए एंटी टेरर स्ट्रक्चर बनाने पर जोर दिया। इस बैठक में सदस्य देशों के बीच विश्वसनीय सूचना सुनिश्चित करने, साइबर अपराध के खिलाफ मिलकर लड़ने और कोरोना महामारी में बायोलॉजिकल और फूड सिक्योरिटी के मुद्दे पर चर्चा हुई।

क्या है SCO
SCO का पूरा नाम शंघाई कॉपरेशन ऑर्गेनाइजेशन है। इसमें रूस, चीन, भारत, पाकिस्तान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, तजाकिस्तान और उज्बेकिस्तान सदस्य हैं। ये संगठन सामाजिक- आर्थिक सहयोग बढ़ाने की कोशिश करता है। USSR के विघटन के बाद 1991 में इसकी भूमिका तैयार की गई थी। 2017 में भारत इस संगठन का पूर्णकालिक सदस्य बना। पिछले साल पाकिस्तान NSA की तरफ से झूठा नक्शा दिखाने पर डोभाल बीच बैठक में से उठकर चले गए थे।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments