Friday, July 23, 2021
Homeभारत18 साल से कम उम्र के बच्चों को करते थे गुमराह, ब्रेनवॉश...

18 साल से कम उम्र के बच्चों को करते थे गुमराह, ब्रेनवॉश के बाद धर्मांतरण करवाते थे; कानपुर में 14 साल का बच्चा था निशाने पर

धर्मांतरण मामले में कानपुर से बड़ी खबर आ रही है। यहां ATS की जांच में मालूम चला कि धर्मांतरण करने वाले मौलानाओं की नजर 18 साल से कम उम्र के बच्चों पर होती थी। ये लोग मुस्लिम बच्चों की मदद से हिंदू बच्चों को गुमराह करते थे। कई तरह का लालच देकर उनका ब्रेनवॉश करते थे और फिर उनका धर्म परिवर्तन करा देते थे। यही नहीं, बच्चों को ये भी कहा जाता था कि घरवालों से छिपकर नमाज पढ़ा करें।

गोविंदनगर के बच्चे को करने लगे थे गुमराह
ATS की जांच में सामने आया है कि कानपुर के गोविंद नगर में 14 साल के बच्चे के धर्मांतरण की कोशिशें चल रहीं थीं। बच्चा 7वीं क्लास में पढ़ता है। बच्चे की गतिविधियां संदिग्ध होने के बाद पेरेंट्स ने उसपर नजर रखना शुरू कर दिया था। जांच में मालूम चला है कि हिंदू से मुस्लिम बना आदित्य इस बच्चे को धर्म परिवर्तन के लिए अलग-अलग तरह से प्रेरित कर रहा था।

CSJMU छात्रा ने भी करा लिया था धर्म परिवर्तन
जांच में मालूम चला है कि कानपुर के CSJM यूनिवर्सिटी की छात्रा सुप्रिया ने भी अपना धर्म परिवर्तन करा लिया था। धर्मांतरण के बाद उसने इस बात को अंग्रेजी अखबार में विज्ञापन के जरिए गजट भी कराया था। आदित्य और सुप्रिया ही नहीं कानपुर में अब तक छह से अधिक धर्मांतरण के मामले सामने आ चुके हैं। अब एटीएस इन सभी से पूछताछ करके मामले का खुलासा करने का प्रयास कर रही है।
धर्मांतरण मामले में गिरफ्तार हुए मोहम्मद उमर गौतम के वीडियो में उसने बताया था कि कानपुर की एमएससी, बीएड पास छात्रा सुप्रिया आयशा ने भी धर्मांतरण कराया था।

कई आरोपी भाग खड़े हुए
ATS की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि धर्मांतरण गिरोह का जाल कानपुर में फैला हुआ है। इसमें कई मुस्लिम संस्थान और 12 से अधिक लोग धर्मांतरण कराने के लिए लोगों को मोटिवेट करने का काम कर रहे थे। ये सभी लोग मोहम्मद उमर गौतम और जहांगीर की गिरफ्तारी के बाद से फरार चल रहे हैं।

एक महीने में औसतन 15 से ज्यादा लोगों का धर्मांतरण होता था
उमर गौतम का जो दूसरा वीडियो आया है उसमें वह दावा करता दिख रहा है कि इस्लामिक दावा सेंटर जामिया, दिल्ली में उसने करीब 1,000 लोगों के धर्मांतरण संबंधी डॉक्यूमेंट जारी किए हैं। इस्लामिक दावा सेंटर में महीने में औसतन 15 से ज्यादा लोगों के धर्मांतरण डॉक्यूमेंट जारी किए जाते हैं। उमर गौतम ने बताया कि इस्लामिक दावा सेंटर के जरिए इंग्लैंड, सिंगापुर, पोलैंड तक में धर्मांतरण का काम होता है। लोगों के इस्लाम कबूल करने से अल्लाह का काम हो रहा है।

अभी इस मामले में क्या चल रहा ?

  • धर्मांतरण प्रकरण में जल्द ही NIA जुड़ सकती है।
  • इस प्रकरण का मुख्य किरदार दिल्ली के जामिया नगर का रहने वाला है।
  • विदेशी फंडिंग के इनपुट्स मिलने के बाद केंद्रीय एजेंसियां भी अलर्ट हैं।
  • बुधवार से ATS एक बार फिर मौलाना जहांगीर और उमर गौतम से पूछताछ शुरू करेगी। ATS ने दोनों मौलानाओं को 7 दिन की रिमांड पर लिया है।
  • गिरफ्तार किए गए मौलाना उमर गौतम और जहांगीर पर NSA के तहत कार्रवाई होगी।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments