Sunday, August 1, 2021
Homeखेलभारत ने इंग्लैंड को उनके घर में हराकर चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम...

भारत ने इंग्लैंड को उनके घर में हराकर चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की थी, क्या इसी दिन दूसरी ट्रॉफी जीत पाएगी टीम इंडिया?

आज ही के दिन टीम इंडिया ने चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। विराट कोहली और रवींद्र जडेजा ने इस जीत में अहम योगदान दिया था। - Dainik Bhaskar

आज ही के दिन टीम इंडिया ने चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। विराट कोहली और रवींद्र जडेजा ने इस जीत में अहम योगदान दिया था।

23 जून 2013 की तारीख को शायद ही कोई फैन भूल सकता है। भारत ने आज के ही दिन इंग्लैंड को एजबेस्टन में खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में हराया था। इत्तेफाक से आज भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड में ही एक और फाइनल खेल रहा है। पूर्व क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी भी 3 ICC ट्रॉफी जीतने वाले पहले कप्तान बने थे। टीम इंडिया ने उनकी कप्तानी में 2007 टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 वनडे वर्ल्ड कप भी जीता है।

एक और इत्तेफाक जो चैंपियंस ट्ऱॉफी और WTC फाइनल से जुड़ा है, वह है कि चैंपिंयस ट्रॉफी का फाइनल भी बारिश से बाधित रहा था। इसके बाद 20 ओवर का मैच कराया गया था। WTC फाइनल भी बारिश से बाधित रहा है। क्या टीम इंडिया आज के ही दिन दूसरी ट्रॉफी जीतेगी, यह देखने वाली बात होगी।

2013 चैंपियंस ट्रॉफी
बारिश से बाधित इस मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग लिया। रोहित शर्मा 9 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद शिखर धवन ने 24 बॉल पर 31 रन बनाकर तेज शुरुआत दी। 50 रन के कुल स्कोर पर वे आउट हुए। उनके आउट होते ही 66 रन तक टीम इंडिया ने 5 विकेट गंवा दिए।

दिनेश कार्तिक 6 रन, सुरेश रैना 1 रन और कप्तान धोनी 0 पर आउट हुए। इसके बाद कोहली और रवींद्र जडेजा ने टीम का स्कोर 100 के पार पहुंचाया। कोहली 34 बॉल पर 43 रन की पारी खेली। वहीं, जडेजा 25 बॉल पर 33 रन बनाकर नॉटआउट रहे। इसकी बदौलत टीम इंडिया ने 7 विकेट पर 129 रन बनाया था।

इसके जवाब में इंग्लैंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही। 46 रन तक टीम ने 4 विकेट गंवा दिए थे। सर एलिस्टर कुक 2 रन, इयान बेल 13 रन, जोनाथन ट्रॉट 20 रन और जो रूट 7 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद ओएन मॉर्गन ने 33 रन और रवि बोपारा ने 30 रन की पारी खेल इंग्लैंड का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया।

ऐसा लग रहा था कि इंग्लैंड यह मैच जीत जाएगी, क्योंकि जोस बटलर क्रीज पर थे। पर रवींद्र जडेजा ने बटलर को 0 पर आउट किया। आखिरी ओवर में इंग्लिश टीम को जीत के लिए 10 रन चाहिए थे। अश्विन ने सिर्फ 4 रन ही बनाने दिया और टीम इंडिया पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments