Thursday, July 29, 2021
Homeभारत12वीं रिजल्ट के फॉर्मूले पर आज सुप्रीम कोर्ट को रिपोर्ट सौंपेगा पैनल,...

12वीं रिजल्ट के फॉर्मूले पर आज सुप्रीम कोर्ट को रिपोर्ट सौंपेगा पैनल, देश की 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियां चलाने वाला बोर्ड 7 कॉरपोरेट कंपनियों में बदलेगा

  • Hindi News
  • National
  • Panel Will Submit Report On 12th Result Formula In Supreme Court Today, The Board Running 41 Ordnance Factories Of The Country Will Be Converted Into 7 Corporate Companies

नमस्कार!
12वीं बोर्ड के रिजल्ट को लेकर क्या आज निकलेगा रास्ता? केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों को लेकर पीएम मोदी ने क्या लिया फैसला? और बछड़े के सीरम को लेकर क्यों मचा है बवाल? आज सुबह हम ऐसी ही खास खबरें आपके लिए लेकर आए हैं। तो चलिए शुरू करते हैं मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ…

सबसे पहले देखते हैं कि बाजार क्या कह रहा है..

  • BSE का मार्केट कैप पहली बार 229.85 लाख करोड़ रुपए हुआ। एक्सचेंज पर करीब 53% कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही।
  • 3,355 कंपनियों के शेयरों में ट्रेडिंग हुई। इसमें 1,441 कंपनियों के शेयर बढ़े और 1,790 कंपनियों के शेयर गिरे।

आज इन इवेंट्स पर रहेगी नजर…

  • CBSE का 13 सदस्यीय पैनल 12वीं बोर्ड रिजल्ट के फॉर्मूले पर सुप्रीम कोर्ट में असेसमेंट रिपोर्ट सौंपेगा।
  • लक्षद्वीप विवाद: फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना की राजद्रोह के मामले में अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई।
  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज असम के दौरे पर जाएंगे। वे यहां BRO की बनाई 12 सड़कों का उद्घाटन करेंगे।

देश-विदेश

12वीं के रिजल्ट पर आज निकल सकता है रास्ता
CBSE 12वीं के रिजल्ट के लिए 10वीं, 11वीं और 12वीं के नंबर्स जोड़े जाने पर विचार चल रहा है। CBSE का 13 सदस्यीय पैनल 10वीं, 11वीं और 12वीं के नंबर 30:30:40 के अनुपात में जोड़कर रिजल्ट तैयार करने के तरीके पर राजी हो सकता है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रिजल्ट के लिए 10वीं और 11वीं के नंबर को 30-30% और 12वीं के बोर्ड एग्जाम से पहले लिए गए टेस्ट को 40% वेटेज दिया जा सकता है। यह कमेटी 17 जून यानी आज रिजल्ट के संबंध में अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपेगी। बताया जा रहा है कि इसके बाद ये फॉर्मूला अनाउंस किया जा सकता है।

ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों को लेकर केंद्र का बड़ा फैसला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कैबिनेट की बैठक की। इसमें डिफेंस से जुड़ा बड़ा फैसला किया गया। सरकार ने ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड (OFB) को अलग-अलग कॉरपोरेट संस्थाओं में बांटने को मंजूरी दे दी है। अभी ये बोर्ड देश की 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों को चलाता है और रक्षा मंत्रालय से जुड़ा हुआ है। बैठक से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि सरकार ने ये फैसला देश में सैन्य उपकरण और हथियार बनाने वाले सबसे बड़े बोर्ड की क्षमता बढ़ाने के लिए किया है। OFB को सरकार द्वारा चलाई जाने वाली 7 अलग-अलग कॉरपोरेट कंपनियों में बांटा जाएगा। इनके तहत ही अब 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियां चलाई जाएंगी।

महामारी की दूसरी लहर में 730 डॉक्टर शहीद हुए
कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान देशभर में 730 डॉक्टर शहीद हुए हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने बुधवार को बताया कि इनमें सबसे ज्यादा 130 डॉक्टर बिहार और उसके बाद दिल्ली में 109 फ्रंटलाइन वर्कर्स महामारी की जंग में शहीद हुए हैं। IMA के मुताबिक, बिहार और दिल्ली के बाद सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में 79 डॉक्टरों ने महामारी के दौरान अपनी जान गंवाई है। राजस्थान में 43, झारखंड में 39, गुजरात में 37, महाराष्ट्र में 23 तो वहीं मध्यप्रदेश में 16 और छत्तीसगढ़ में 5 डॉक्टर शहीद हुए। इसके साथ ही हरियाणा और पंजाब में 3-3 डॉक्टर्स महामारी से लड़ाई में कुर्बान हो गए।

1.5 लाख से ज्यादा लोगों को 5G की स्पीड से मिलेगी नौकरी
पिछले कुछ महीने से 5G से जुड़ी नौकरियां तेजी से बढ़ रही हैं। डेटा एनालिटिक्स कंपनी ग्लोबल डेटा के मुताबिक भारत में 5G से जुड़ी वैकेंसी अक्टूबर-दिसंबर 2020 के मुकाबले जनवरी-मार्च 2021 में दोगुना हो गईं। इस फर्म में बिजनेस फंडामेंटल एनालिस्ट अजय थल्लूरी का कहना है कि आने वाले महीनों में हायरिंग बढ़ सकती हैं, क्योंकि 5जी के आने से कई सेक्टर प्रभावित होंगे। टैलेंट सॉल्यूशन कंपनी Xpheno की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 5G शुरू करने के लिए जल्द ही 1.5 लाख से ज्यादा लोगों की जरूरत पड़ेगी। एक्सपर्ट्स का कहना है कि IP नेटवर्किंग, फर्मवेयर, ऑटोमेशन, मशीन लर्निंग, बिग डेटा एक्सपर्ट, साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट, इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर्स की डिमांड बढ़ेगी। ज्यादातर भर्तियां टेलिकॉम और IoT कंपनियां करेंगी।

बछड़े के सीरम पर ICMR का जवाब- आंख बंद करके वैक्सीन लें
कोवैक्सिन को लेकर कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि उसमें बछड़े का सीरम मिलाया गया है। आरोप कांग्रेस नेता गौरव पांधी ने एक RTI रिपोर्ट के हवाले से लगाया। हालांकि भाजपा और सरकार ने इससे इनकार किया है। कोवैक्सिन निर्माता भारत बायोटेक ने भी कहा कि फाइनल डोज में इस सीरम का इस्तेमाल नहीं किया है। भास्कर से बतचीत में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के डॉ. मनोज मुरेहकर ने विवाद को प्रोपेगैंडा करार दिया है। उन्होंने बताया कि बछड़े के ब्लड से सीरम लिया गया है, उसे मारा नहीं गया है इसलिए आंख बंद करके वैक्सीन लें। वैक्सीन लेने से ही मौत कम होगी और लोग हॉस्पिटल से बचे रहेंगे। इसी तरह कोरोना पर काबू पाया जा सकेगा।

चिराग का चाचा पर पलटवार: बोले- वे धोखेबाज; शेर का बेटा हूं, लड़ाई के लिए तैयार
लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में फूट के बाद चिराग पासवान बुधवार को पहली बार मीडिया के सामने आए। उन्होंने चाचा पशुपति कुमार पारस पर पलटवार करते हुए कहा कि पार्टी ने समझौते की बजाय संघर्ष का रास्‍ता चुना था। पिता के निधन के बाद मैंने परिवार और पार्टी दोनों को लेकर चलने का काम किया। इसमें संघर्ष था। जिन लोगों को संघर्ष का रास्‍ता पसंद नहीं था, उन्‍होंने ही धोखा दिया। चाचा बोलते, तो पहले ही संसदीय दल का नेता बना देता। चिराग ने कहा- LJP को पहले भी तोड़ने की कोशिश की गई थी। मैं रामविलास पासवान का बेटा हूं। शेर का बेटा हूं। पारस गुट ने पटना में गुरुवार को कार्यकारिणी की जो बैठक बुलाई है, वो असंवैधानिक है। उनके लिए गए फैसले भी गलत हैं। मैं लंबी लड़ाई के लिए तैयार हूं।

ट्विटर मामले पर सरकार का जवाब- अब वे कानूनी संरक्षण के हकदार नहीं
नए IT नियमों का पालन नहीं करने की वजह से ट्विटर ने बुधवार को देश में इंटरमीडियरी प्लेटफॉर्म का दर्जा खो दिया। यानी अब ट्विटर अपने प्लेटफॉर्म पर की गए पोस्ट के लिए जिम्मेदार होगा। इस फैसले के बाद केंद्र सरकार ने अपना पक्ष रखा। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस बात को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं कि क्या ट्विटर कानूनी संरक्षण का हकदार है? हालांकि, मामले में सीधी बात यह है कि ट्विटर 26 मई से लागू हुई गाइडलाइन का पालन करने में नाकाम रहा है। इसके बाद भी उन्हें काफी मौके दिए गए थे। फिर भी उन्होंने जानबूझकर गाइडलाइन न मानने का रास्ता चुना। दरअसल, ट्विटर का कानूनी संरक्षण खत्म होने को लेकर केंद्र सरकार ने कोई भी आदेश जारी नहीं किया है। IT मंत्रालय की ओर जारी की गई गाइडलाइन का पालन नहीं करने की वजह से कानूनी संरक्षण अपने आप खत्म हुआ है। कानूनी संरक्षण 25 मई से खत्म माना गया है।

मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांग्शु बोले- 25 MLA और 2 MP तृणमूल में आ सकते हैं
बंगाल के दिग्गज नेता मुकुल रॉय की वापसी के बाद से ही कहा जा रहा है कि बड़ी संख्या में भाजपा से लोग तृणमूल में आएंगे। मुकुल रॉय के पॉलिटिकल मूव्स भी इसी ओर इशारा कर रहे हैं। मुकुल लगातार भाजपा नेताओं और ऑर्गेनाइजर्स के संपर्क में हैं। साथ ही उन लोगों से भी कॉन्टैक्ट कर रहे हैं, जिन्हें वे 4 साल भाजपा में रहते हुए तृणमूल से लाए थे। सूत्रों ने बताया कि रॉय खुद मानते हैं कि वे भाजपा नेताओं से फोन पर बात कर रहे हैं। 2017 में तृणमूल से भाजपा में जाने वाले मुकुल रॉय अपने बेटे शुभ्रांग्शु के साथ तृणमूल में वापस लौट आए थे। ममता ने उनकी वापसी पर कहा था कि मुकुल को पार्टी में बड़ा रोल दिया जाएगा। बेटे शुभ्रांग्शु ने मुकुल के प्लान को और विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा के कम से कम 20 से 25 विधायक और 2 सांसद तृणमूल में आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने विधानसभा चुनाव के बाद जो किया, अब उसका जवाब देने का वक्त है।

सचिन पायलट 6 दिन दिल्ली में रहे, प्रियंका से मिले बिना ही जयपुर लौटे
राजस्थान कांग्रेस में चल रहे सियासी बवाल के बीच पूर्व डिप्टी CM सचिन पायलट 6 दिन दिल्ली में रहने के बाद बुधवार को बिना हाईकमान से मिले ही जयपुर लौट आए हैं। पहले उनके प्रियंका गांधी से मिलने की चर्चा थी, लेकिन ​उनसे भी मुलाकात नहीं हो सकी। पायलट शुक्रवार शाम को दिल्ली पहुंचे थे, तब से ही उनके समर्थक विधायकों और CM अशोक गहलोत खेमे के बीच तीखी बयानबाजी का दौर जारी है। सचिन पायलट को 6 दिन दिल्ली में रहने के बावजूद हाईकमान से बिना मिले लौटने को लेकर कई तरह की सियासी चर्चाएं हैं। कांग्रेस के जानकारों के मुताबिक फिलहाल नंबर गेम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास होने की वजह से सचिन खेमे की मांगों को तरजीह नहीं दी जा रही है।

रोनाल्डो ने कोक की 2 बोतल हटाई, कंपनी की वैल्यू 29 हजार करोड़ रु. से ज्यादा घटी
पुर्तगाल की फुटबाॅल टीम के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो के गुस्से से कोल्ड ड्रिंक बनाने वाली कंपनी कोका-कोला को 4 अरब डॉलर (29.34 हजार करोड़ रुपए) का नुकसान हो गया, क्योंकि इस घटना के बाद शेयर बाजार में कंपनी का शेयर प्राइस 56.10 डॉलर से 1.6% गिरकर 55.22 डॉलर पर आ गया। ऑस्ट्रेलियन एसोसिएटेड प्रेस के मुताबिक शेयरों में गिरावट से कोका-कोला की मार्केट वैल्यू 242 अरब डॉलर से घटकर 238 अरब डॉलर की हो गई है। बता दें कि कोका कोला 11 देशों में खेले जा रहे UEFA यूरो कप का ऑफिशियल स्पॉन्सर है।

खाने के तेल सस्ते हुए: कीमतों में 10-20% की आई गिरावट
पिछले कुछ दिनों में खाने की तेल की कीमतों में 10-20% तक की गिरावट आई है। कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है। इसके मुताबिक एक महीने में इन कीमतों में कमी आई है। मंत्रालय के मुताबिक, तेलों की अलग-अलग कैटेगरी में 20% तक की गिरावट आई है। आंकड़ों के मुताबिक, मूंगफली तेल की कीमत एक लीटर की 190 से घट कर 174 रुपए पर आई है। वनस्पति तेल की कीमत एक लीटर की 154 से कम होकर 141 रुपए पर आई है। इन दोनों तेलों की कीमतों में 8-8% की कमी आई है। सोया ऑयल की कीमत भी इसी तरह घटी है। इसकी पहले की कीमत 162 रुपए थी जो अब 138 रुपए पर है। यानी 15% इसकी कीमतों में कमी आई है। सरसों के एक लीटर तेल की कीमत भी 175 से घट कर 157 रुपए पर आ गई है।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments