Monday, August 2, 2021
Homeभारतदिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से कानपुर के लिए रवाना हुए राष्ट्रपति कोविंद,...

दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से कानपुर के लिए रवाना हुए राष्ट्रपति कोविंद, 15 साल बाद पहली बार कोई राष्ट्रपति ट्रेन से सफर कर रहे

दिल्ली के सफदरगंज रेलवे स्टेशन पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, फर्स्ट लेडी सविता कोविंद और रेल मंत्री पीयूष गोयल। - Dainik Bhaskar

दिल्ली के सफदरगंज रेलवे स्टेशन पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, फर्स्ट लेडी सविता कोविंद और रेल मंत्री पीयूष गोयल।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने पैतृक निवास यानी कानपुर के लिए दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना हो गए हैं। 15 साल में ये पहली बार है जब राष्ट्रपति ट्रेन से सफर कर रहे हैं। इससे पहले 2006 में राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने दिल्ली से देहरादून तक ट्रेन से सफर किया था। डॉ. कलाम देहरादून स्थित इंडियन मिलिट्री एकेडमी की पासिंग आउट परेड में शामिल होने पहुंचे थे। अब मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने पैतृक निवास के लिए निकले हैं।

महाराजा एक्सप्रेस से सफर कर रहे
राष्ट्रपति कोविंद महाराजा एक्सप्रेस से दिल्ली से रवाना हो गए हैं। उन्हें रेलवे स्टेशन तक ड्रॉप करने के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल खुद स्टेशन पहुंचे थे। ये देश ही नहीं दुनिया की नायाब ट्रेनों में शुमार है। उनके लिए स्पेशल 15 कोच की ट्रेन तैयार की गई है। इसमें 2 इंजन भी होंगे। ये ट्रेन झींझक और रूरा में रूकेगी।

राष्ट्रपति के कार्यक्रम का पूरा शेड्यूल

  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, फर्स्ट लेडी सविता कोविंद और उनकी बेटी कानपुर स्थित अपने पैतृक निवास के लिए दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना हो चुके हैं।
  • शाम 7:45 मिनट पर ये ट्रेन कानपुर पहुंच जाएगी। इसके पहले ट्रेन कानपुर के रूरा और झींझक रेलवे स्टेशन पर रुकेगी। यहां राष्ट्रपति अपने पुराने साथियों से मुलाकात करेंगे।
  • 27 जून को कानपुर देहात के परौंख में दो समारोह आयोजित किए जाएंगे। ये गांव राष्ट्रपति का पैतृक गांव है। इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति शामिल होंगे।
  • 28 जून को कानपुर सेंट्रल से राष्ट्रपति लखनऊ के लिए रवाना होंगे। यहां उनके सम्मान में राजभवन में हाई टी का आयोजन किया जाएगा।
  • 29 जून को लखनऊ रेलवे स्टेशन से राष्ट्रपति वापस दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

देश के पहले राष्ट्रपति ने ट्रेन से खूब यात्रा की
देश के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद अक्सर रेल यात्रा करते थे। राष्ट्रपति के रूप में पद ग्रहण करने के तुरंत बाद ही वे अपनी बिहार यात्रा पर निकले थे। इस दौरान उन्होंने सीवान जिले में अपने जन्मस्थान जीरादेई का दौरा किया था। वह छपरा से जीरादेईक पहुंचने के लिए प्रेसिडेंशियल ट्रेन में सवार हुए थे, जहां ट्रेन में उन्होंने 3 दिन बिताए थे।

ट्रेन के अंदर कुछ ऐसी व्यवस्था की गई है।

ट्रेन के अंदर कुछ ऐसी व्यवस्था की गई है।

ट्रेन भी पहली बार आ रही
कानपुर में महाराजा एक्सप्रेस भी पहली बार आ रही है। ये ट्रेन दिल्ली से अपने 8 दिन के पैकेज टूर पर ही रवाना होती है। ये दिल्ली, आगरा, रणथंभौर और जयपुर होते हुए अपनी यात्रा की समाप्ति दिल्ली में ही करती है। इसमें मिनिमम किराया 2 लाख से 16 लाख रुपए तक होता है। ये ट्रेन हेरिटेज ऑफ़ इंडिया, ट्रेज्रस ऑफ़ इंडिया, जेम्स ऑफ़ इंडिया, इंडियन पैनोरमा यात्रा और इंडियन स्प्लेंडर यात्रा के पैकेज पर अलग-अलग रूट पर दौड़ती है। इसमें पैकेज के हिसाब से ही डेस्टिनेशन भी शामिल हैं।

28 जून को राष्ट्रपति के सम्मान में हाई-टी
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के सम्मान में 28 जून को राजभवन में हाई-टी का आयोजन किया जाएगा। इस आयोजन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ. दिनेश शर्मा समेत कुछ प्रबुद्ध लोगों को बुलाया जाएगा। राजभवन में आगंतुकों की लिस्ट तैयार की जा रही है। हर वर्ग के प्रबुद्ध जनों को राजभवन से आमंत्रण भेजा जाएगा। राष्ट्रपति इसी दिन कुछ राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से भी मुलाक़ात कर सकते हैं।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments