Monday, August 2, 2021
Homeदुनियासाथी के लिए प्यार और प्रशंसा के शब्द कहें; चंचलता से भी...

साथी के लिए प्यार और प्रशंसा के शब्द कहें; चंचलता से भी रिश्तों में खोई चमक लौट सकती है

  • Hindi News
  • International
  • Say Words Of Love And Appreciation To The Partner; Even Fickleness Can Bring Back The Lost Luster In Relationships.
विशेषज्ञों का सुझाव- दंपती तय करें, सकारात्मकता के लिए किन चीजों को हटाना है। - Dainik Bhaskar

विशेषज्ञों का सुझाव- दंपती तय करें, सकारात्मकता के लिए किन चीजों को हटाना है।

महामारी में बहुत कुछ बदला है। जाहिर है रिश्ते भी इस बदलाव से कैसे अछूते रह सकते हैं। इस दौर में दंपतियों ने सर्वाधिक वक्त साथ बिताया। क्लीनिकल सायकोलॉजिस्ट ब्रायस डोहेन कहते हैं, उन्हें कई भूमिकाएं एकसाथ निभानी पड़ीं। जो यूं सामान्य तौर पर दूसरे लोगों द्वारा निभाई जातीं।

इससे कुछ मौकों पर तनाव भी हुआ होगा। अब जबकि जिंदगी की गुनगुनाहट लौट रही है। यही वक्त है रिश्तों के ताने-बाने को फिर मजबूती देने का। एक्सपर्ट कहते हैं कि अतीत से सीखकर और भविष्य की ओर देखकर दंपती मजबूती से उभर सकते हैं। यह कैसे होगा, पढ़िए…

1. साथी की जो अच्छी बात आपको पहली बार पता चली, उसे साझा करें

दंपती आकलन करें कि क्वारेंटाइन के दौरान रिश्तों में कौन सी बात अच्छी रही, कौन सी नहीं। रिलेशनशिप थेरेपिस्ट क्रिस्टियाना वोसान कहती हैं कि जीवनसाथी से यह जरूर साझा करें कि मुश्किल वक्त में आपने खुद के बारे में क्या सीखा। आगे चलकर सकारात्मक बदलाव लाना आसान होगा। कौन सी अच्छी चीजें जारी रखना चाहते हैं, किन्हें खत्म करना है। एक-दूसरे से की उन चीजों पर बात करें, जिन्हें जानकर हैरानी हुई। इनमें कुछ खामियां होंगी तो कुछ अच्छाई भी, जैसे महामारी के दौरान आपको साथी की मानसिक मजबूती का पहली बार अहसास हुआ।

2. तारीफ करें

मिशिगन यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर टेरी आर्बच कहती हैं कि छोटी ही सही पर एेसी बातें-‘आप अच्छी मां हो या पिता हो’ असर करती हैं। गॉटमैन इंस्टिट्यूट के डॉन कोल कहते हैं सफल दंपती वही हैं जो साथी के लिए सम्मान, प्यार और प्रशंसा के शब्द कहते हैं।
3. खुद के लिए वक्त

दोनों साथी रोज खुद के लिए अलग समय जरूर निकालें, भले वह छोटी सी वॉक हो। इजरायल की बार इलान यूनिवर्सिटी लिआड उजिएल के मुताबिक इससे स्वतंत्र रूप से पहचान बनाने का मौका मिलता है। आगे चलकर रिश्तों में मजबूती आती है।
4. पार्टी में जाएं

इस दौर में सबसे ज्यादा जिस चीज की कमी खली, वो आयोजन हैं। डेपॉल यूनिवर्सिटी में कम्युनिकेशन की प्रोफेसर केंड्रा नाइट कहती हैं कि पार्टी के लिए तैयार होना, मजाकिया होना, आकर्षण में नई ऊर्जा भर सकता है। साथी बड़ी पार्टी के लिए राजी न हो तो करीबियों के साथ छोटा आयोजन कर सकते हैं।
5. चंचल पक्ष फिर से खोजें

यह दौर बहुत भारी रहा है। जर्मनी में मनोविज्ञान के शोधकर्ता के ब्रेउर कहते हैं, रिश्तों में चंचलता खोई चमक लौटा सकती है। ऐसे लोग साथी से मजाक करते हैं, हैरान करते हैं, या पुरानी किसी बात पर खुद का उपहास करवाते हैं। अभी इसी की जरूरत है।
6. योजनाएं बनाएं

साथ मिलकर योजनाएं बनाएं जैसे रेनोवेशन, छुट्‌टी में घूमना या रेस्त्रां जाना। डॉ. वोसन कहती हैं जब दंपती टीम जैसे काम करते हैं, तो रिश्तों में संतुष्टि बढ़ जाती है।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments