Monday, August 2, 2021
Homeभारतमुस्लिम बुजुर्ग से पिटाई की सबसे पहले शिकायत करने वाले सपा नेता...

मुस्लिम बुजुर्ग से पिटाई की सबसे पहले शिकायत करने वाले सपा नेता उम्मेद पहलवान गिरफ्तार, क्राइम ब्रांच ने दिल्ली से पकड़ा

गाजियाबाद जिले में 72 साल के बुजुर्ग अब्दुल समद को बंधक बनाकर पीटने और दाढ़ी काटने से जुड़े वीडियो कांड में सपा नेता उम्मेद पहलवान को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के बाद क्राइम ब्रांच और लोनी बॉर्डर थाने की पुलिस टीम उसे गाजियाबाद ला रही है। पुलिस कई दिनों से पहलवान की तलाश कर रही थी। शनिवार दोपहर उसे दिल्ली के LNJP अस्पताल के पास से पकड़ा गया। इस मामले में अब तक 9 लोगों को पकड़ा जा चुका है। 8 को जमानत भी मिल चुकी है।

उम्मेद गाजियाबाद का लोकल नेता

उम्मेद पहलवान गाजियाबाद का लोकल नेता है। उस पर धार्मिक भावनाएं भड़काने और समुदायों के बीच नफरत फैलाने का आरोप है। उम्मेद पहलवान ही सबसे पहले समद को लेकर मीडिया के सामने आया था।

गाजियाबाद के SP (ग्रामीण) डॉक्टर ईरज राजा ने पहलवान की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। सूचना थी कि उम्मेद पहलवान कोर्ट में सरेंडर करने की तैयारी कर रहा है। इससे पहले उसे पकड़ लिया गया। उसे कोर्ट में भी पेश किया जा सकता है।

सपा नेता उम्मेद पहलवान (बाएं) और पीड़ित अब्दुल समद (दाएं)। उम्मेद पहलवान ही सबसे पहले समद को लेकर मीडिया के सामने आए थे।

सपा नेता उम्मेद पहलवान (बाएं) और पीड़ित अब्दुल समद (दाएं)। उम्मेद पहलवान ही सबसे पहले समद को लेकर मीडिया के सामने आए थे।

सपा नेता पर माहौल भड़काने का आरोप
लोनी बॉर्डर थाने के सब इंस्पेक्टर नरेश सिंह ने उम्मेद पहलवान के खिलाफ 16 जून को IPC की धारा 295A, 153A, 504, 505 और 67 IT एक्ट में केस दर्ज कराया था। आरोप था कि पिटाई केस के पीड़ित अब्दुल समद का वीडियो बनाकर उम्मेद पहलवान ने फेसबुक पर वायरल किया था। तथ्यों की जांच पड़ताल किए बिना घटना को साम्प्रदायिक रंग देकर माहौल भड़काने का प्रयास किया। उम्मेद पहलवान पर एक केस अनूपशहर कोतवाली में भी दर्ज है।

इस केस का मुख्य आरोपी प्रवेश गुर्जर जबरन वसूली के एक मामले में जेल में है। अब पुलिस उसे रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है। अभी तक पुलिस के हाथ वह मोबाइल नहीं लगा है, जिससे पूरे मामले का वीडियो शूट किया गया था।

इस मामले में अब तक 3 FIR हुईं

पहली FIR: यह समद सैफी पर हमले के संबंध में है, जिसमें प्रवेश गुर्जर मुख्य आरोपी है। जांच में सामने आया है कि उन पर हमला प्रवेश गुर्जर के घर में बने एक कमरे में हुआ था।

दूसरी FIR: यह ट्विटर, कांग्रेस नेताओं और पत्रकारों के खिलाफ है। इसमें ट्विटर और पत्रकारों पर धार्मिक भावनाएं भड़काने और समाज में नफरत फैलाने के आरोप लगाए गए हैं। इस मुकदमे के संबंध में अभी किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है, लेकिन ट्विटर और केंद्र सरकार इसे लेकर आमने-सामने आ गई है।

तीसरी FIR: यह सपा नेता उम्मेद पहलवान के खिलाफ दर्ज की गई है। पहलवान पर धार्मिक भावनाएं भड़काने और समुदायों के बीच नफरत फैलाने का आरोप है।

क्या है पूरा मामला

  • उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद पुलिस ने लोनी इलाके में अब्दुल समद नाम के एक बुजुर्ग के साथ मारपीट और अभद्रता किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद FIR दर्ज की गई थी। इन सभी पर घटना को गलत तरीके से सांप्रदायिक रंग देने की वजह से यह एक्शन लिया गया। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दिख रहा है कि एक बुजुर्ग मुस्लिम को पीटा गया और उसकी दाढ़ी काट दी गई।
  • पुलिस के मुताबिक, मामले की सच्चाई कुछ और है। पीड़ित बुजुर्ग ने आरोपी को कुछ ताबीज दिए थे, जिनके परिणाम न मिलने पर नाराज आरोपी ने इस घटना को अंजाम दिया। लेकिन, ट्विटर ने इस वीडियो को मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग नहीं दिया। पुलिस ने यह भी बताया कि पीड़ित ने अपनी FIR में जय श्री राम के नारे लगवाने और दाढ़ी काटने की बात दर्ज नहीं कराई है।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments