Thursday, July 29, 2021
Homeखेलकोहली बोले-टीम में सही लोगों को लाने की जरूरत है, जो सही...

कोहली बोले-टीम में सही लोगों को लाने की जरूरत है, जो सही मानसिकता से खेलें

  • Hindi News
  • Sports
  • Virat Kohli On Team India Playing 11 Against England Test Series After New Zealand Win WTC Final 2021

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में न्यूजीलैंड ने भारत को 8 विकेट से हरा दिए। फाइनल का परिणाम रिजर्वडे में जाकर निकला। बारिश की वजह से दो दिन मैच नहीं हो पाए। जिसके बाद रिजर्वडे के दिन भी खेल हुआ। कोहली टीम के सीनियर खिलाड़ियों के प्रदर्शन से खासे नराज दिखे और उन्होंने कहा कि कुछ सीनियर खिलाड़ियों में रन बनाने का जज्बा नहीं दिखा। हालांकि उन्होंने किसी खिलाड़ी का नाम नहीं लिया। लेकिन माना जा रहा है कि वह चेतेश्वर पुजारा के प्रदर्शन से निराश हैं। पुजारा ने पहली पारी में 54 गेंदों पर 8 रन और दूसरी पारी में 80 गेंदों पर 15 रन बनाए।

कोहली ने कहा, ‘टीम में सही लोगों को लाने की जरूरत है, जो सही मानसिकता से खेलें। हम एक साल तक इंतजार नहीं कर सकते हैं। हमें इस पर चर्चा करने की जरूत है। हमें नए सिरे से इस पर प्लान बनाना होगा। आप अगर हमारी सीमित ओवरों की टीमे को देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि हमारे पास गहराई और खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरे हैं। टेस्ट क्रिकेट में भी ऐसी जरूरत है।”

प्राइज डिस्ट्रीब्यूशन के दौरान विराट कोहली दुखी नजर आए। उन्होंने सिर पकड़ लिया।

प्राइज डिस्ट्रीब्यूशन के दौरान विराट कोहली दुखी नजर आए। उन्होंने सिर पकड़ लिया।

इंग्लैंड के साथ सीरीज में युवा खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका
कोहली के बयान के बाद ऐसा माना रहा है कि अगस्त- सितंबर में इंग्लैंड के साथ होने वाले पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में टीम में बदलाव किए जा सकते हैं। वहीं 15 सदस्यीय टीम में युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जा सकता है। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में 15 सदस्यीय टीम में शार्दूल सहित कई युवा खिलाड़ियों को टीम में जगह नहीं मिली थी। शार्दूल ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गेंद और बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया था। हालांकि इंग्लैंड और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के लिए वे इंग्लैंड गई 20 सदस्यीय टीम में हैं।

ज्यादा डिफेंसिव मानसिकता से आने वाले बल्लेबाजों पर दबाव
कोहली ने कहा कि हमें अपने खेल में सुधार करने की जरूरत है। मौजूदा टीम प्रबंधन के लिए 80 गेंदों में 15 रन बनाने से ज्यादा जरूरत 80 गेंदों में 50 रन बनाने वाले खिलाड़ी की है। जरूरत से ज्यादा डिफेंसिव मानसिकता से बल्लेबाजी से आने वाले बल्लेबाजों पर ज्यादा दबाव बनता है। विलियम्सन ने पहली पारी में सात रन बनाए, लेकिन दूसरी पारी में आखिरी सेशन में जरूरत के समय 80 गेंद पर हाफ सेंचुरी भी जमाई।

दूसरी पारी में ऋषभ पंत ने 41 रन की पारी खेलकर टीम को संभाला।

दूसरी पारी में ऋषभ पंत ने 41 रन की पारी खेलकर टीम को संभाला।

कोहली ने पंत का बचाव किया
कोहली ने पंत का बचाव किया और कहा कि हम नहीं चाहते कि पंत टीम की स्थिति के चक्कर में अपने पॉजिटिविटी को छोड़ दें। पंत ने अच्छा प्रयास किया और जब भी मौका मिलता है, वह अच्छा करने का प्रयास करते हैं। कई बार इस प्रयास में गलतियां हो जाती है। पंत ने दूसरी पारी में 88 गेंदों पर 41 रन बनाए थे और शॉट खेलने के चक्कर में वह कैच दे बैठे।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments