Thursday, July 29, 2021
Homeखेलटीम इंडिया के कोच ने कहा कंडीशंस के लिहाज से बेहतर टीम...

टीम इंडिया के कोच ने कहा कंडीशंस के लिहाज से बेहतर टीम जीती, कहा-बड़ी चीजें आसानी से नहीं मिलती

  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • WTC Final Team India’s Coach Said That The Better Team Won In Terms Of Conditions, Said Big Things Do Not Come Easily
रवि शास्त्री और विराट कोहली की कोच-कप्तान की जोड़ी अब तक टीम इंडिया को कोई ICC खिताब नहीं दिला सकी है। - Dainik Bhaskar

रवि शास्त्री और विराट कोहली की कोच-कप्तान की जोड़ी अब तक टीम इंडिया को कोई ICC खिताब नहीं दिला सकी है।

न्यूजीलैंड ने भारत को हराकर पहली वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप जीत ली है। इस ऐतिहासिक सफलता के बाद पूरे क्रिकेट जगत से न्यूजीलैंड की टीम को बधाई मिल रही है। टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने भी कीवी टीम की तारीफ की है। हालांकि, उन्होंने जिस अंदाज में यह बधाई दी है उससे लगता है कि कहीं न कहीं वे टीम इंडिया की हार के लिए कंडीशन को भी जिम्मेदार मानते हैं।

जीत की हकदार थी कीवी टीम
भारतीय टीम के हेड कोच ने ट्वीट किया है-कंडीशंस के लिहाज से बेहतर टीम जीती। सबसे लंबे इंतजार के बाद विश्व खिताब जीतने की हकदार थी न्यूजीलैंड की टीम। उन्होंने आगे लिखा है-न्यूजीलैंड की जीत इस बात का बेहतरीन उदाहरण है कि बड़ी चीजें आसानी से नहीं मिलती है। वेल प्लेड न्यूजीलैंड। रिस्पेक्ट।

उनकी कोचिंग में टीम नहीं जीत सकी कोई ICC खिताब
अनिल कुंबले के 2017 में हटने के बाद से रवि शास्त्री टीम इंडिया के हेड कोच हैं। उनके कार्यकाल में टीम ने टेस्ट, वनडे और टी-20 तीनों फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन किया है। लेकिन, यह भी सच है कि इस दौरान भारत कोई ICC खिताब नहीं जीत सका है। उनके कोच बनने के बाद भारत को 2019 वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भी हार झेलनी पड़ी थी। तब भी सामने न्यूजीलैंड की टीम ही थी।

2015 और 2016 में थे टीम डायरेक्टर
रवि शास्त्री हेड कोच बनने से पहले टीम इंडिया के साथ कुछ मौकों पर बतौर टीम डायरेक्टर भी जुड़े थे। 2015 वनडे वर्ल्ड कप और 2016 टी-20 वर्ल्ड कप में भी वे टीम डारेक्टर थे। उन दोनों टूर्नामेंट में भी भारत को सेमीफाइनल में हार झेलनी पड़ी थी। 2015 वनडे वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराया था। वहीं, 2016 टी-20 वर्ल्ड कप में भारत को अपने घरेलू मैदान पर वेस्टइंडीज से हार झेलनी पड़ी थी। ये दोनों टीमें आगे चलकर चैंपियन भी बनी थी।

फाइनल के लिए 3 मैचों की सीरीज की वकालत
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल शुरू होने से पहले ही शास्त्री ने कहा था कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल एक टेस्ट का नहीं होना चाहिए थे। इसके लिए बेस्ट ऑफ थ्री फॉर्मेट अपनाना बेहतर होता। मैच हारने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने भी 3 मैचों की सीरीज की वकालत की थी।

Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments